RIP का क्या मतलब क्या होता है?

आज के समय में अधिकतर लोगों के द्वारा शब्दों को शॉर्टकट बोला और लिखा जाता है, जिससे हमें शब्दों के फुल फॉर्म के विषय में जानकारी होनी अतिआवश्यक है | सोशल मीडिया पर शॉर्टकट शब्दों का प्रयोग बहुत ही अधिक किया जाता है, इससे चैटिंग करते समय या कमेंट करते समय सामने वाले व्यक्ति के द्वारा ऐसे ही शब्दों का प्रयोग किया जाता है, यदि हमें इनकी जानकारी नहीं होती है, तो हम बात को गलत समझ कर उसका उत्तर दे देते है | जिससे सामने वाले व्यक्ति को हमारे अधूरे ज्ञान का पता हो जाता है और हमें शर्मिंदगी का सामना करना पड़ता है | सोशल मीडिया पर जब किसी दुर्घटना के बाद किसी व्यक्ति की मृत्यु हो जाती उस समय RIP शब्द का प्रयोग किया जाता है |

ये भी पढ़ें: NDA और UPA क्या है?

सोशल मीडिया पर प्रयोग होने वाले शब्द

आज के समय में सोशल मीडिया पर लोग एक दूसरे से बात-चीत करते है, जिसमें कई शब्दों को प्रयोग किया जाता है जैसे OK , OMG , HELLO इत्यादि लेकिन अब लोग RIP का प्रयोग भी करने लगे है, तो जब भी इसका प्रयोग करे परिस्थति को देख कर ही इसका प्रयोग करना चाहिए |

ये भी पढ़ें: बीटेक (B.TECH) क्या है?

RIP का क्या मतलब होता है (MEANING OF RIP)?

मनुष्य के द्वारा कई धर्मों को मान्यता दी गयी है, प्रत्येक धर्म ईश्वर की सत्ता को स्वीकार करते है, प्रत्येक धर्म में जीवन और मरण के विषय में बताया गया है, सभी धर्मों में जन्म और मृत्यु  के संस्कार अलग- अलग किये जाते है और उनके लिए अलग- अलग शब्दों का प्रयोग किया जाता है, परन्तु मूलतः वह सभी धर्म एक ही कार्य कर रहे होते है, बस उनका तरीका अलग होता है | ईसाई धर्म में मृत्यु होने पर REST IN PEACE शब्द का प्रयोग किया जाता है | इसका अर्थ ‘शान्ति से आराम करो’ है, अन्य धर्म में ऐसे ही दूसरे शब्दों का प्रयोग किया जाता है, परन्तु यह सभी शब्द धर्म, देश और भाषा के अनुसार बदलते रहते है | लेकिन वास्तविक रूप में वह शब्द मृत्यु के बाद की अवस्था के बारे में बताते है | इस प्रकार से कहा जा सकता है कि मृत्यु के बाद लेटने की अवस्था या अंतिम अवस्था को REST IN PEACE या RIP कहा जाता है |

ये भी पढ़ें: बीएड (B.ED) कोर्स क्या है?

रिप का फुल फॉर्म क्या है (FULL FORM)?

रिप का फुल फॉर्म REST IN PEACE है, हिंदी भाषा में इसका अर्थ ‘शान्ति से आराम करो’ है |

ईसाई अथवा मुस्लिम धर्म

ईसाई अथवा मुस्लिम धर्म में मृत्यु के बाद शव को जमीन में दफन कर दिया जाता है, इन धर्मों में मान्यता है, कि एक दिन “क़यामत का दिन” या “जजमेंट डे” आयेगा उस दिन या सभी शव जीवित हो जायेंगे | उस दिन की प्रतीक्षा करने के लिए उनसे शान्ति से आराम करो या REST IN PEACE या RIP कहा जाता है | इस शब्द का प्रयोग दिवंगत आत्मा की शांति के लिए भी प्रयोग किया जाता है | इसलिए सोशल मीडिया पर बहुत ही अधिक मात्रा में ऐसी घटना होने पर RIP का प्रयोग किया जाता है |

RIP का प्रयोग श्रद्धांजलि के भाव में

प्रत्येक धर्म में श्रद्धांजलि देने का अलग- अलग तरीका है | ईसाई धर्म में कब्र के ऊपर RIP लिख दिया जाता है | आज के समय में सोशल मीडिया पर RIP का प्रयोग श्रद्धांजलि देने के लिए किया जाता है |

ये भी पढ़ें: मुख्यमंत्री (CM) को पत्र कैसे लिखे?

ये भी पढ़ें: भारतीय संविधान क्या है?

ये भी पढ़ें: ग्राम विकास अधिकारी (VDO) कैसे बने?

ये भी पढ़ें: नीट (NEET) परीक्षा क्या होता है?