मुख्यमंत्री (CM) को पत्र कैसे लिखे?

स्कूल या कॉलेज के समय हमें पत्र लेखन का ज्ञान कराया जाता है, इसको प्रैक्टिस में लाने के लिए इसे कई भाषाओं में लिखाया जाता है, जिससे भाषा कौशल के साथ पत्र लेखन में भी कौशल प्राप्त हो सके है | पत्र लेखन का ज्ञान हमें व्यवहारिक रूप तब होता है, जब हम किसी नौकरी-पेशा से जुड़ जाते है, उस समय हमें कई लोगों से संवाद करना होता है, सरकारी कार्यालय में किसी भी सूचना की जानकारी प्राप्त करने या अपना स्वयं का कार्य करने के लिए हमें प्रार्थना पत्र लिखने को कहा जाता है | यह प्रार्थना पत्र अगर राज्य के  मुख्यमंत्री को लिखना हो तो हमें अपनी भाषा शैली का विशेष ध्यान रखना होता है, जिससे भाषा में शालीनता और सरलता प्रदर्शित हो |

ये भी पढ़ें: भारतीय संविधान क्या है?

पत्र क्या है (WHAT IS LETTER)?

एक व्यक्ति का दूसरे व्यक्ति के साथ संवाद करने में शब्दों का प्रयोग किया जाता है, यह संवाद आमने-सामने होता है, यदि व्यक्ति किसी दूर स्थान पर है, उससे संवाद पत्र के द्वारा किया जाता है | यह पत्र भी कई प्रकार के होते है, जैसे व्यक्तिगत और व्यवहारिक | पत्र के अनुसार ही भाषा का प्रयोग किया जाता है | इस प्रकार से कहा जा सकता है, किसी दूरस्थ व्यक्ति से संपर्क करने के लिए जिस माध्यम का प्रयोग किया जाता है, उसे पत्र कहा जाता है |

पत्र की भाषा (LANGUAGE)

किसी व्यक्ति के आत्म ज्ञान की पहचान उसकी भाषा और लेखन के द्वारा पता किया जा सकता है | लिखने में हमें अपनी बात को पूरे उसी हाव- भाव से समझाना होता है, जिस प्रकार से हम आमने- सामने बात करते है | भाषा में प्रयुक्त होने वाले शब्दों का प्रयोग सही स्थान पर सही शब्द का होना चाहिए | पत्र में अच्छे शब्दों का प्रयोग किया जाता है, जिससे शालीनता और विनम्रता बनी रहे |

पत्र कैसे लिखे (HOW TO WRITE A LETTER)?

पत्र लिखने में अभिवादन बहुत ही महत्व होता है, पत्र किसको लिखा जा रहा है, इसकी स्पष्ट जानकारी होनी चाहिए | पत्र लिखने में विषय का बहुत ही ध्यान देना चाहिए जिससे पत्र पढ़ने से पूर्व ही यह जानकारी प्राप्त की जा सके कि यह पत्र किस विषय से सम्बंधित है | पत्र लिखने में आपको सुन्दर राइटिंग का प्रयोग करना चाहिए, जिससे स्पष्ट जानकारी मिल सके |

ये भी पढ़ें: गन्ना पर्ची कैलेंडर कैसे देखे?

मुख्यमंत्री (CM) को पत्र कैसे लिखे?

मुख्यमंत्री (CM) को पत्र इस प्रकार लिखे-

  • पत्र में सबसे ऊपर दिनांक का उल्लेख करे |
  • उसके नीचे आपको मुख्यमंत्री का नाम व पता डाले |
  • अब आपको विषय डालना है, यहाँ पर आपको एक लाइन में पत्र का शीर्षक डालना है |
  • अब आपको ‘माननीय मुख्यमंत्री जी’ से सम्बोधित करना है |
  • सम्बोधन के बाद आपको नीचे अपनी समस्या या शिकायत को संक्षिप्त, स्पष्ट व क्रमशः जानकारी लिखनी है, यहाँ पर आपको लिखते समय अच्छे शब्दों का प्रयोग करना चाहिए |
  • पूरी जानकारी देने के बाद आपको नीचे धन्यवाद लिखना है |
  • अब आपको भवदीय लिखना है, इसके बाद आपको अपना नाम, पद, पता, मोबाइल नंबर की जानकारी देनी है और हस्ताक्षर करना है | इस प्रकार से आप मुख्यमंत्री को पत्र लिख सकते है |

पत्र का प्रारूप (FORMAT)

10 जुलाई 2019

श्री योगी आदित्य नाथ

माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश

सूचना भवन, पार्क रोड

डिपार्टमेंट ऑफ़ इनफार्मेशन & पब्लिक रिलेशंस

लखनऊ – 226001

विषय- (यहाँ पर आपको पत्र किस विषय से सम्बंधित है, उसके बारे में शीर्षक लिखना है )

माननीय मुख्यमंत्री जी,

(इस स्थान पर आपको अपनी समस्या या शिकायत के विषय में बताना है, और उस कार्यवाही करने का अनुरोध करना चाहिए)

धन्यवाद |

भवदीय

नाम …………..(पत्र लिखने वाला व्यक्ति यहाँ पर अपना नाम लिखे)

संगठन का नाम ………………………………………………(यदि व्यक्ति किसी संगठन से जुड़ा है, तो यहाँ पर उसका उल्लेख करे)

संगठन का पता …………………………………(यहाँ पर अपने संगठन का पता डाले)

फोन ………….. (यहाँ पर अपना मोबाइल नंबर या लैंड लाइन नम्बर डाले)

हस्ताक्षर (यहाँ पर अपना हस्ताक्षर करे)

स्थान……………. (यहाँ पर आपको अपने निवास स्थान की जानकारी देनी होगी)

इस प्रारूप के अनुसार आप आसानी से मुख्यमंत्री को पत्र लिख सकते है |

ये भी पढ़ें: NDA और UPA क्या है?