डी एल एड (D.EL.ED) क्या है?

प्राचीन काल में शिक्षा गुरुकुल में प्रदान की जाती थी | इसके लिए छात्रों को घर से दूर गुरुकुल में ही निवास करना पड़ता था | यह शिक्षा ऋषि- मुनियों के द्वारा प्रदान की जाती थी | उस समय शिक्षक बनना काफी कठिन कार्य था | शिक्षक बनने के लिए वेदों का ज्ञान होना अति आवश्यक था | ऋषि- मुनि वर्षों तक वेद- पुराण का अध्ययन करते थे | जब वह इस पूरे वेदों का समुचित ज्ञान प्राप्त कर लेते थे तभी वह शिक्षा देने के योग्य बनते थे | उस समय एक शिक्षक से सभी प्रकार की विद्या प्राप्त करने की आशा वयक्त की जाती थी | उस समय यह शिक्षा केवल शिक्षक केंद्रित थी | वर्तमान समय में शिक्षक बनने के लिए कई कोर्सों का संचालन किया जाता है | इन्हीं में से एक कोर्स डी एल एड (D.EL.ED) है, जिसको सफलता पूर्वक करने के बाद आप शिक्षक बनने की योग्यता प्राप्त कर लेते है |

डी एल एड क्या है (WHAT IS D.EL.ED) ?

वर्तमान समय में शिक्षक बनने के लिए कई प्रकार के कोर्सों का संचालन किया जाता है, उन्हीं में से एक कोर्स डी एल एड (D.EL.ED) है | प्राथमिक विद्यालय में अध्यापक बनने के लिए डी एल एड (D.EL.ED)  कोर्स का संचालन किया जाता है | इसको सफलता पूर्वक करने के बाद आप  शिक्षक बनने की प्रक्रिया में भाग ले सकते है |

डी एल एड फुल फॉर्म ((D.EL.ED FULL FORM)

डी एल एड का फुल फॉर्म ‘डिप्लोमा इन एलीमेंटरी एजुकेशन (DIPLOMA IN ELEMENTARY EDUCATION) है |

डी एल एड कोर्स की अवधि (DURATION) क्या है ?

डी एल एड (D.EL.ED) कोर्स की अवधि दो वर्ष है, इसको करने के बाद आप टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट में भाग लेने का अवसर प्राप्त कर लेते है |

योग्यता (QUALIFICATION)

डी एल एड (D.EL.ED) में प्रवेश प्राप्त करने के लिए अभ्यर्थी के स्नातक की परीक्षा में 50 प्रतिशत अंक होने अनिवार्य है | आरक्षित श्रेणी के अभ्यर्थियों को नियमानुसार छूट प्रदान की जाती है |

आयु (AGE LIMIT)

डी एल एड (D.EL.ED) में प्रवेश प्राप्त करने वाले अभ्यर्थी की आयु 18 वर्ष से 35 वर्ष के बीच में होनी अनिवार्य है |

फ़ीस (FEE)

डी एल एड (D.EL.ED) की फीस इस प्रकार से है-

सरकारी कॉलेज – 10200 रूपये प्रतिवर्ष

प्राइवेट कॉलेज – 41000 रूपये प्रतिवर्ष

चयन प्रक्रिया (SELECTION PROCESS)

डी एल एड (D.EL.ED) में प्रवेश हाईस्कूल, इण्टरमीडियट, स्नातक में प्राप्त अंकों के प्रतिशत के योग के आधार पर मेरिट के अनुसार प्रवेश दिया जाता है |

एडमिशन प्रकिया (ADMISSION)

  • राज्य सरकार के द्वारा प्रति वर्ष आवेदन प्रक्रिया शुरू की जाती है, जैसे ही आवेदन शुरू हो निर्धारित तिथि के अंदर आवेदन करे |
  • आवेदन करने के बाद आवेदन का प्रिंट आउट निकाल ले |
  • आवेदन के कुछ समय के बाद मेरिट जारी की जाती है, अपने आवेदन संख्या डाल कर अपनी मेरिट चेक करे |
  • कुछ समय के बाद काउंसलिंग की जाती है, अपनी मेरिट के अनुसार काउंसलिंग में भाग ले | काउंसलिंग में आपको उस समय उपलब्ध कॉलेजों में से अपनी पसंद का कॉलेज का चयन करना है |
  • काउंसलिंग के एक-दो दिन के बाद कॉलेज का एलॉटमेंट कर दिया जाता है | आप एलॉटमेंट लेटर का प्रिंट आउट और आवश्यक डॉक्यूमेंट के साथ एलॉट किये गए कॉलेज में फ़ीस जमा कर के एडमिशन ले सकते है |

आधिकारिक वेबसाइट ==> यहाँ पर क्लिक करे

डी एल एड (D.EL.ED) SCHEDULE 2019 ==> यहाँ पर क्लिक करे

डी एल एड (D.EL.ED) नोटिफिकेशन  2019 ==> यहाँ पर क्लिक करे

डी एल एड (D.EL.ED) के बाद क्या करे ?

दो वर्षीय कोर्स समाप्त करने के बाद आप आप टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट में भाग ले सकते है, इसका आयोजन राज्य सरकार और केंद्र सरकार अलग-अलग करती है | राज्य सरकार द्वारा आयोजित होने वाले टेस्ट को स्टेट टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट कहा जाता है और केंद्र सरकार द्वारा आयोजित होने वाले टेस्ट को सेंटर टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट कहा जाता है |

टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट के बाद क्या करे ?

टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट उत्तीर्ण करने के बाद राज्य सरकार और केंद्र सरकार इसका एक प्रमाण पत्र प्रदान करती है | इस प्रमाण पत्र के आधार पर केंद्र और राज्य सरकार द्वारा निकाली गयी प्राथमिक विद्यालयों की भर्ती के लिए आप आवेदन कर सकते है |

केंद्र और राज्य सरकार चयन प्रक्रिया

केंद्र और राज्य सरकार शिक्षक चयन करने के लिए एक परीक्षा का आयोजन करती है | इस परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने के बाद मेरिट का निर्माण किया जाता है | यह मेरिट बनाने के नियमों में समय- समय पर परिवर्तन किया होता रहता है | यदि आप इस मेरिट में आ जाते है, तो आपका चयन प्राथमिक विद्यालय में अध्यापक के पद पर कर लिया जाता है |

तैयारी कैसे करे

  • डी एल एड (EL.ED) में प्रवेश प्रतिवर्ष किया जाता है, प्रवेश का आधार शैक्षिक योग्यता होती है | इसमें लिखित परीक्षा का आयोजन नहीं किया जाता है | इसमें प्रवेश प्राप्त करने के लिए आप इस प्रकार से तैयारी कर सकते है-
  • आपको हाईस्कूल अच्छे अंकों से उत्तीर्ण करना होगा क्योंकि डी एल एड (EL.ED) में प्रवेश का आधार मेरिट है |
  • इंटरमीडियट में आपको अच्छे अंक प्राप्त करने होंगे |
  • स्नातक में सही विषयों का चयन करे और अच्छे अंकों के साथ स्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण करे |
  • प्रवेश प्रक्रिया शुरू होने के पहले ही आपको अपने सभी अंक पत्र और प्रमाण पत्र प्राप्त कर लेने होंगे |
  • अगर जाति, आय, निवास पहले से न बने हो तो वह पहले ही बनवा ले |
  • अंतिम विद्यालय का कैरक्टर सर्टिफिकेट, ट्रांसफर सर्टिफिकेट, मेडिकल सर्टिफिकेट पहले से ही तैयार रखे | इस प्रकार से आप तैयारी कर सकते है |